चाय का हेल्थ पर क्या असर होता है

October 13, 2019

 |  No Comments

1.आज की इस भाग दौड़ वाली ज़िन्दगी में हम जब भी थोड़ा थका महसूस करते है या जब भी थोड़े तनाव में होते है हम चाय पी लेते है, कई लोग तो अपनी दिन की शुरुआत ही चाय की प्याली के साथ करते है | चाय की एक चुस्की हमे तरोताजा कर देती है | आपने चाय के कई फायदे सुने होंगे पर आपके लिए यह भी जानना जरुरी है फायदों के साथ-साथ कई हानियाँ भी है जो आपको मालूम होनी चाहिए | तो चलिए जानते है की कैसे चाय हमारे स्वस्थ पे बुरा प्रभाव दाल सकता है | चाय की कुछ चर्चित हानिया निम्नलिखित है –

2.त्याधिक गरम चाय ग्रास्सनली के कैंसर के खतरों को बढ़ता है
एक अध्यन में पता चला है की लगातार बहुत गरम चाय (यानी 70 ° C से अधिक ) पीने वाले लोगो में ग्रास्सनली(भोजन नलिका या खाने की नली) के कैंसर होने की सम्भावना बढ़ जाती है | या यु कहे की जो भी चाय छानने के तीन मिनट भीतर चाय पीता है उनमे इसका खतरा उन लोगो से ज्यादा होता जो अपनी चायछानने के 4 मिनट बाद पीता है|
प्रोस्टेट कैंसर के सम्भावनाओ को बढ़ती है-
प्रोस्टेट एक पुरुष ग्रंथि है जो पेनिस और यूरिनरी ब्लाडर के बीच में होता है जो एक ऐसे तरल पदार्थ को जारी करता है जो स्पर्म में पाया जाता है | ग्लासगो विश्वविद्यालय की एक अध्यन में पाया गया है की अधिक मात्रा में चाय पीना प्रोस्टेट कैंसर के खतरों को बढ़ता है|
3.अध्यन में येपाया गया है की जो इंसान एक दिन में 7 कप से अधिक चाय पीता उसमे इसका खतरा 50% तक बढ़ जाता है उस इंसान के मुकाबले बढ़ जाता जो एक दिनमें 0 से 3 कप चाय पीता है |
4.चाय में पाए जाने वाले कैफीन के दुष्प्रभाव कई हो सकते है –
चाय में वैसे तो कैफीने प्राकृतिक रूप से पाया जाता है, ऐसा नहीं कैफीने केवल दुष्प्रभाव ही है इसके फायदे भी है जैसे की यह हमारे ऊर्जा शक्ति और सतर्कता को बढ़ाता है लेकिन इसका अधिक उपभोग हमारे स्वस्थ पे कई दुष्प्रभाव हो सकते है जैसे की नींद आने में कठनाई, पेट का अल्सर, घबराहट, अवसाद, ह्रदयगति में वृद्धि आदि दुष्प्रभाव हो सकते है| इतना ही नहीं अगर कैफीन की लत्त लग जाये तो उसे छोड़ना आसान नहीं होता और अगर हम ऐसा करने की कोशिश करे तो सिरदर्द, उच्च रक्त चाप, चिड़चिड़ापन और मतली आदि दिक्कते सामने आते है|
5.गर्भपात का खतरा बढ़ जाता है
यदि गर्भवती या स्तन पिलानेवाली महिला दिन में दो कप से ज्यादा चाय( केवल दो कप चाय में ही 200 mg तक कैफीने पायी जाती है ) का सेवन करती है तो गर्भपात का खतरा बढ़ जाता हैं, इसके साथ-साथ और भी समस्याये उत्पन्न हो जाती है जैसे की जन्म के समय शिशु कम वजन, भ्रूण के विकास को नुकसान पहुंचा सकता है, अचानक शिशु मृत्यु इत्यादि |
कब्ज –
थियोफिलाइन नामक रसायन चाय में पाया जाता है जो पाचन के दौरान निर्जलीकरण प्रभाव पैदा कर सकता है, जो कब्ज कारण हो सकता है। लेकिन कई लोग सोचते है की सुबह चाय पीने से पेट साफ़ रहता है जबकि होता बिलकुल इसका उल्टा है अत्यधिक चाय पीने से कब्ज समस्याएं उत्पन्न होती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *