मेडिटेशन क्या है और इसके फायदे

October 16, 2019

 |  No Comments

मैडिटेशन या ध्यान को परिभाषित करना मुश्किल है क्योंकि यह विभिन्न परंपराओं में भिन्न-भिन्न प्रथाओं का विस्तार करता है। लेकिन अगर फिर भी अगर हम एक कोशिश करे तो जिस तरह से हम अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम करते है उसी तरह ध्यान एक क्रिया है जो हम अपने दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए करते है |
आधुनिक मनोवैज्ञानिक अनुसंधान में, ध्यान को विभिन्न तरीकों से परिभाषित किया गया है
चलिए अब ध्यान यानि मैडिटेशन करने के कुछ तरीको के बारे में जानते है
वैसे तो मैडिटेशन करने का कोई भी सही या गलत तरीका नहीं है ध्यान बस ऐसी क्रिया जिससे आपका विचलित मन एकाग्र हो | पर फिर भी कुछ बाते है जिनका ध्यान रखना बहुत जरुरी तो नही फिर भी हमे इन बातो का ध्यान देना चाहिए जैसे –

1.बैठने का तरीका -यु तो आप ध्यान कुर्सी पेभीबैठकर कर सकते पर अगरहम एक उपयुक्त तरीके की बात करे तो हमे वज्रआसन, सुखासन या पद्मासन में बैठना चाहिए|

2.शरीर की अवस्था -ये सबसे ध्यान देने वाली बात है की मैडिटेशन करते वक्त आपने शरीर को ज्यादा टाइट न रखे इसे एकदम ढीला छोड़ दीजिये | ऐसा करना इसलिए जरूर है तकि आपके मांशपेशियों को थोड़ा आराम मिल सके |

3.सांस कैसे ले – जैसे ही आप आराम से बैठ जाये पहले तो आराम से सांस ले और फिर धीरे धीरे गहरी सांस ले और छोड़े, ऐसा बार बार करे ताकि आपको meditaion का पूरा लाभ मिले |

4.किसी बिंदु पे ध्यान करना -ये ध्यान लगाने का सबसे कठिन भाग है क्योंकि हमारा मन बहुत चंचल है इसे एक जगह केंद्रित करना बहुत ही मुश्किल कार्य है इसके लिए आप ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करे और कोशिश करे की अपने मन को अपने सांसो पे केंद्रित करे |

5.फालतू गतिविधि न करे -कई बार हम ध्यान करते करते सारी फालतू गतिविधिया करते है जैसे की नींद आना, खुजली करना, इधर-उधर का सोचना आदि |ये सारी गतिविधियाआपका ध्यान कभी एकाग्र नहीं होने देंगी और न आप अपना ध्यान केंद्रित कर पाएंगेऔर नआप मैडिटेशन का पूरा फ़ायदा नहीं ले पाएंगे |

मैडिटेशन के फायदे
1.तनाव में कमी –
आज की इस भागदौड़ वाली जिंदगी में हमे कई सरे विषयो को लेकर तनाव रहता है, और इसके कारण और भी बहुत साडी बीमारिया होती है | मैडिटेशन करने से हमारे तनाव में थोड़ी कमी आती है और हमारा मन थोड़ा शांत होता है|

2.चिंता औरअवसाद(dippression) मेंआराम –
Dippression या अवसाद एक ऐसी बिमारी है जिसे हो जाये मानो वो कुछ अच्छा सोच ही नहीं सकता, वो हमेशा बुरा या नेगेटिव ही सोचेगा | लेकिन अगर अवसाद का रोगी नियमित रूप से मैडिटेशन करे तो अवसाद से छुटकारा पाया जा सकता है |
3.ब्लड प्रेशर –
मैडिटेशन का नियमित प्रयोग करके हम अपने ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित कर सकते है| असल में होता क्या जब हम मैडिटेशन करते है तो हमारे मन को शांति मिलती है जिसकी वजह से हमारे शरीर का रक्त चाप काम होता हो |
4.नींद में सुधार –
एक शोध में पाया गया है की मिंडफुल्नेस्स मैडिटेशन नींद सम्बन्द्धी समस्याओं में काफी कारगार् होता है |
5.ह्रदय रोगो में लाभदायक –
जैसा की हम जानते है की मैडिटेशन से तनाव, चिंता , एवं ब्लड प्रेशर में कमी आती है जो की एक मुख्या कारण है जिसकी वजह से ह्रदय रोग होते है, और जब तनाव ही नहीं रहेगा तो ह्रदय रोग होना तो बहुत दूर की बात है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *